सानिया की सनसनीखेज हत्या में मां शहनाज का हाथ भी सामने आया है। सानिया अपनी मां को नींद की गोलियां देकर प्रेमी से मिलने जाती थी। उस रात भी शहनाज को शक हुआ। उसने सानिया के द्वारा दी गई चाय नहीं पी। क्योंकि सानिया चाय में ही नींद की गोलियां डालती थी। रात दो बजे सानिया प्रेमी से मिलने के लिए जाने लगी। तभी शाहिद ने पकड़कर जमीन पर पटक दिया। बदहवास होने पर बेड पर लेटाया। उसके बाद शहनाज ने हाथ पकड़े और शाहिद ने छूरे से गर्दन काट दी। करीब दो घंटे के सर्च अभियान के बाद पुलिस ने सानिया की गर्दन भी बरामद कर ली है। उसे भी पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

रात में नींद की गोली देकर

घंटाघर स्थित कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि शुक्रवार को लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र के न्यू इस्लामनगर स्थित कब्रिस्तान में युवती की सिरकटी लाश मिली थी। छह दिन बाद प्रेमी वसीम की शिकायत पर पुलिस ने शव की पहचान शालीमार गार्डन निवासी सानिया पुत्री शाहिद के रूप में हुई। पुलिस ने शाहिद को घर से गिरफतार कर लिया। एसपी सिटी के मुताबिक, शाहिद ने पूछताछ में बताया कि सानिया की हत्या में उसकी पत्नी शहनाज भी शामिल थी।सानिया को वसीम से दूर करने के लिए पहले रिहान गार्डन स्थित मकान को बेचकर शालीमार गार्डन में खरीदा। उसके बाद भी सानिया मां को चाय में नींद की गोलियां देकर प्रेमी से मिलने चली जाती थी।

 

 

सानिया को परिवार के लोगों ने समझाया। उसका रिश्ता भी तय कर दिया। उसके बाद भी सानिया ने वसीम का साथ नहीं छोड़ा। तब शहनाज और वसीम ने मिलकर सानिया की हत्या कर शव को कब्रिस्तान में फेंका और सिर को माधवपुरम स्थित पानी की टंकी के पास नाले में फेंक दिया। पुलिस ने शाहिद की निशानदेही पर दो घंटे के सर्च अभियान चलाकर सिर बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। साथ ही हत्या में प्रयोग साइकिल और छूरा भी बरामद कर लिया। दंपती को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।

 

 

सानिया की हत्या पर मामा-मामी से हो गया था झगड़ा

पुलिस को एक आडियो भी मिली है, आडियो से पता चला कि मवाना के रहने वाले सानिया के मामा और मामी को भी उसकी हत्या की जानकारी थी। सानिया की हत्या के बाद मामा-मामी का झगड़ा भी शाहिद और शहनाज के साथ हुआ था। मामला परिवार से जुड़ा होने की वजह से उन्होंने पुलिस को कोई सूचना नहीं दी।पोस्टमार्टम के बाद कब्र में दफनाया जाएगा सिर : पहले से ही युवती के शव को पुलिस मुस्लिम मान चुकी थी। इसलिए पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को लावारिस में दफना दिया था। अब पुलिस ने शव के पास ही कब्र को खोदकर सिर को भी वहीं दफनाएगी। ताकि पूरा शरीर एक साथ हो सकें।

 

 

कुछ तो अभी भी कर रहा हूँ आप लोगो के लिये ख़ैर आप email पर लिख भेजिए मुझे lov@gulfhindi.com पर

Leave a comment